फोर्स 2: स्टोरी में कुछ नहीं खास, एक्शन है दमदार

force-2रिव्यूः ‘फोर्स 2’
कास्ट: जोह्न अब्राहम, सोनाक्षी सिंहा, ताहिर राज, नरेन्द्र झा
निर्देशक: अभिनय देव
स्टार- 3

कहानीः
चीन के शांघाइ शहर से इस कहानी का उदय होता है, जहां पर रॉ एजन्ट हरीश चतुर्वेदी की हत्या की गइ थी। इस मर्डर के 2 दिन बाद भिन्न-भिन्न  शहर में 2 और रॉ एजन्ट की हत्या होते ही दिल्ही की रॉ के हेड ऑफिस में एक बेठक बुलाइ जाती है। शांघाइ में जिसकी हत्या हुइ वह रॉ एजन्ट हरीश मुंबइ के पोलीस इन्सपेक्टर यशवर्धन (जोन) का दोस्त था। खुन होने के कुछ दिन पहले ही हरीशने यशवर्धन को एक पुस्तक भेजा था। जिसमे कोड छुपे हुए थे, जो सोल्व होते ही रॉ के कइं एजन्ट का फंडा फुट शकता था। रॉ हेड्वार्टर में चल रही मिटिंग में यश को एजन्ट्स की टीम के साथे मर्डर की मिस्ट्री सोल्व करने के लिये भेजने का निर्णय लिया जाता है। इस टीम में यश के साथ रॉ एजन्ट कंवल जीत कौर (सोनाक्षी सिंहा) भी सामेल है। यश की जांच के बाद बुडापेस्ट के इन्डियन एम्बेसी में काम करनेवाले स्टाफ पर संदेह होता दीख रहा है। यहां आकर यश एवं कंवल जीत कौर अपने तरीके से जांच पडताल शुरु करदेते हैं। दौरान उनपर भी कइं जानलेवा हमले हौते हैं। आखिर में ए्मबेसी में काम करनेवाले शिव शर्मा संदेह के घेरे में घीरते है। यहां से शिव शर्मा को अरेस्ट कर के भारत लाने का मिशन शुरु होता है, जो इतना आसान नहीं है।

निर्देशनः
एक्शन, स्टंट्स एवं थ्रिल पर अभिनव देव ने अच्छी कमान संभाल के रखी है। बुडापेस्ट के बेस्ट लोकेशन पर शूट किया गया वह प्लस पोइन्ट है। कहीं ऐसा लगता है की, अभिनव ने स्क्रिप्ट एवं केरेक्टर्स पर ध्यान देने के बजाइ टेक्नोलोजी को कीस तरह बेहतर बनाएं उस पर ज्यादा ध्यान दिया है।

अदाकारीः
हंमेशा की तरह एक्शन सिन के लिये जोन को फूल स्कोर जे शकते हैं, लेकिन पहले की तरह इस फिल्म के भी हर सिन में जोन एक्सप्रेसन लेस चहेरे के साथ दिखे। फिल्म में सोनाक्षी के एक्शन सीनस आपको फिल्म अकिरा की याद जरूर दिलाएंगे। सोनाक्षी ने कुछ नया करने की कोशिश की है, एवं उनके एक्टिंग की प्रशंसा भी हो रही है। ताहीर राज ने भी प्रशंसनिय एक्टिंग की है। पारस ओजा और नरेन्द्र झा अपने किरदार में शूट होते दिखेंगे।  एक-दो सीन में जिनेलिया डिसुझा एवं बोमन इरानी भी दिखेंगे।

देखे या न देखेः
अगर आप ज्होन के पक्के फेन हैं तो देख शकते हैं। लोकेशन, एक्शन और टेक्निक बढिया है। लेकिन अगर आप कहानी को फिल करने के लिये देखना चाहते हैं तो फिल्म बकवास है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.