द मैग्नीफिसेंट सेवन आपको कर शकती है मायुस

magnificent7रिव्यु: द मैग्नीफिसेंट सेवन
कास्ट: पीटर सार्सगार्ड,डेनजेल वाशिंगटन, क्रिस प्रातः, एथें हॉक,विन्सेन्ट डी'ओनोफ्रीओ,
मानुएल गरसिया,ली बयुंग हुन और मार्टिन सेन्समेयर
निर्देशक: एंटोनी फ़ुकुया
लेखक: रिचर्ड वेंक और नीक पिज़्ज़ोलेटो

कहानी:
द मैग्नीफिसेंट सेवन १९६० की क्लासिक फिल्म थी जिसकी यह मॉडर्न रीमेक है| रोज ग्रीक जगह के लोग बड़े और नामी इंडुस्ट्रीयालिस्ट बार्थोलोम्यु बोगुए की चंगुल में फसे हुए है| जिले के सभी लोग एमा कुल्लेन के नेतृत्व में सात जुवारी, हन्टर्स और कॉव्बॉयस को ढूंढकर उस इंडुस्ट्रीयालिस्ट से बदला लेनो को रखते है| वो सातो जने पैसो के लिए लड़ने को तैयार हो जाते है पर फिल्म जैसे जैसे आगे बढ़ती है उन्हें मालूम होता है के वो पैसो से बढ़कर उससे लड़ना चाहते है|क्या है वो वजह जो उन्हें आखरी लड़ाई या फिर युद्ध के लिए प्रोत्साहित करती है इसके लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी|

निर्देशन:
निर्देशक अंटोनी १९६० की फिल्म को उसी परदे पे नयी तरीके से पेश करना चाहते थे पर वो कमाल नै दिखा पाए| सातों किरदारों को बस लड़ते मार पिट करते दिखाया गया है जब की मुख्य कहानी अंत में आती है. कहानी कहि पीछे छूट जाती है और बस मार पिट में ही रह जाती है| सातो किरदारों को अलग तो दिखाया है पर अच्छे से हर किरदार की ग्रोथ नहीं दिखाई गयी है| कुछ सीन्स काफी अच्छे से दर्शाये गए है फिल्म में|

अदाकारी:
सातों किरदार जो की कॉव्बॉयस है उन्हें एवेंजर जैसे कॉव्बॉयस दिखाया गया है और उनकी एक्शन सीन्स प्रभावशाली भी है पर मार काट में जिले में होते नुक्सान को नज़र अंदाज किया गया है| एमा ने अपना विधवा वाला किरदार अच्छे से निभाया है| इंडुस्ट्रीयालिस्ट भी अपने किरदार में काफी हद्द तक अच्छे था| ये सभी को बड़े पर्दो पे देखना अच्छा लगेगा इस मॉडर्न मैग्नीफिसेंट सेवन में|

देखे या न देखे:
निर्देशक जो १९६० की फिल्म की छाप छोड़ना चाहते थे वो वे नही कर पायी इस फिल्म द्वारा| हां ये मॉडर्न वेस्टर्न फिल्म कइयो को भा सकती है पर इससे ज्यादा अच्छी क्लासिक थे मैग्नीफिसेंट सेवन जो १९६० में आयी थी। आप इसे घर पे अपने लैपटॉप पे चाहे तो देख सकते है|

1,434 total views, 1 views today