मशहूर अभिनेत्री विमी की दर्दभरी दास्तान

हाल ही मे स्वर्गवास हुइ भारतीय सिनेमा की पहली महिला सुपरस्टार श्रीदेवी की मशहूर फिल्म ‘चालबाज’ में एक बहेतरीन डायलोग था, “ मेरा नाम सीता, सलमा या सूजी कोइ भी हो क्या फर्क पडता हैं? में सिर्फ एक औरत हुं जो मर्दो की बनाइ इस दुनिया में अपनी शर्त से जीना चाहती हैं.” लेकिन फिल्म के ये डायलोग फिल्म तक ही रह जाते हैं हमारे देश में आज भी अपनी शर्तो पर जीनेवाली औरत का त्याग खुद उसके ही घरवाले करते हैं!

ऐसी ही एक दर्दभरी दास्तान हैं 60-70 की मशहूर अभिनेत्री विमी की. जिनको उनकी पहेली ही फिल्म हमराज ने स्टार बना दिया था. अपनी शर्तो पर जीने की उनकी चाहत वो अपना सब कुछ लुटाकर भी नहीं चूका पाइ! विमी ने अपनी इच्छाओ का गला नहीं घोंटा तो समाज ने उनकी खुशियों का गला घोंट दीया.

विमी एक बहोत ही खूबसूरत पंजाबी लडकी थी. माना जाता हैं कि उन्होने अपने परिवार के खिलाफ जाके शादी की थी. अपनी शादीशूदा जिंदगी में विमी बहोत खुश थी. तब एक पार्टी मे उनकी मुलाकात संगीतकार रवि से हुइ. रविने उन्हे बी. आर चोपरा से मिलवाया. इस तरह विमी को अपनी पहली ही फिल्म में सुनील दत्त और राजकुमार जैसे अव्वल दर्जे के अभिनेताओ के साथ काम करने का मौका मिला. ये फिल्म जबरदस्त हीट रही और विमी रातोरात एक बडी स्टार बन गइ.

विमी के पास सब कुछ था, नाम, शोहरत, दौलत. लेकिन विमी का फिल्मो में काम करना उनके परिवार को पसंद नहीं था. यहां तक की उनके पति के साथ भी उनका रिश्ता टूट चूका था. इस बात का विमी पर काफी गहेरा असर हुआ. वो अपने काम पर भी फोकस नहीं कर पाइ और इसी वजय से उनकी फिल्मे फ्लोप होने लगी. विमी की पर्सनल लाइफ और प्रोफेशनल लाइफ दोनो ही बर्बादी की कगार पे आ गइ थी. विमी ने अपनो गमो को भुलाने के लिये शराब का सहारा लिया. दुसरी तरफ उनका कर्ज बढता जा रहा था और आमदनी बिलकुल भी नहीं थी. ज्यादा शराब पीने के कारण उनका लीवर खराब हो गया लेकिन उनके पास इलाज के लिये पैसे तक नहीं थे. जनरल होस्पिटल में सारवार ले रही विमी का निधन भी उसी सरकारी अस्पताल की बेड पर ही हुआ.

विमी कितनी अकेली थी इसका अंदाजा इस बात से भी आता हैं की स्टार बनने के सिर्फ 10 साल बाद उनकी मौत हुइ पर उन्हे चार कंधे तक नसीब नही हुए! जो किसी जमाने मे लाखो लोगो की धडकन हुआ करती थी. उन्हे एक चायवाले के ठेले से स्मशान तक ले जाया गया था.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*